Ambala Cantt: हम आमतौर पर सुनते हैं कि, छात्र पर कॉलेज प्रशासन ने किसी कारणवश रोक लगाई हो। परंतु ऐसा बहुत ही कम देखने को मिलता है कि, कॉलेज प्रशासन द्वारा किसी छात्र की जगह अपने ही एसोसिएट प्रोफेसर पर रोक लगाई गई हो और वो भी सिर्फ छात्राओं से बात करने पर। जी हाँ, ऐसा ही एक अजीबोगरीब मामला अंबाला छावनी के राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में देखने को मिल है।

यहाँ के एक एसोसिएट प्रोफेसर की इन हरकतों से तंग आकर कॉलेज प्रशासन द्वारा ऐसा अजीबोगरीब निर्णय लिया गया है कि, उक्त प्रोफेसर छात्राओं से बात ही नहीं करेगा। इसके पीछे का मुख्य कारण प्रोफेसर के खिलाफ छात्रा द्वारा दी गई शिकायत है। प्रोफेसर के खिलाफ पहले भी कई बार छात्राओं ने शिकायत दर्ज कारवाई है जिसके कारण छात्राओं के परिजन भी की बार कॉलेज पहुंच चुके हैं।

अब फिर से एक बार ऐसी ही शिकायत मिलने पर कॉलेज की ओर से यह कदम उठाया गया है, इसके साथ ही मामले की जानकारी सरकार को भी दी गई है।

ये है मामला:-

दरअसल मामला अंबाला छावनी कबाड़ी बाजार स्थित गवर्नमेंट पी. जी. कॉलेज का है। जिसमें एक एसोसिएट प्रोफेसर पर कई छात्राएं बहुत बार गंभीर आरोप लगा चुकी हैं जिसको लेकर कॉलेज प्रशासन की ओर से जांच कमेटी भी गठित की जा चुकी है जिसपर बात तबादले तक पहुंच चुकी है।

एसोसिएट प्रोफेसर पहले से ही विवादों में घिरे हुए हैं। इनमे से उनके द्वारा बंद कमरे में जन्मदिन की पार्टी मनना भी शामिल है, और इसके बाद अब छात्रा द्वारा दी गई यह शिकायत जिसपर एसोसिएट प्रोफेसर को कड़ी चेतावनी तक दी गई है। जिससे इस बार कॉलेज प्रशासन सख्त कार्रवाई करता दिख रहा है, ताकि दोबारा ऐसा कुछ न हो।

फिलहाल के लिए कॉलेज प्राचार्य की ओर से प्रोफेसर को चेतावनी दी गई है, जिसमें छात्रा द्वारा की गई शिकायत का उल्लेख करते हुए छात्रा के बयान को आधार बनाते हुए कहा गया है कि, संबंधित एसोसिएट प्रोफेसर न तो किसी छात्रा से कक्षा के बाहर अनावश्यक रूप से बात करेंगे और ना ही कोई रोक-टोक करने की कोशिश करेंगे। फिर भी अगर जरूरी है तो केवल महिला प्रोफेसर की उपस्थिति में उचित दूरी बनाकर की बात की जा सकेगी।

इसके साथ ही यदि भविष्य में ऐसी कोई शिकायत फिर से प्राप्त होती है तो आप के विरुद्ध इस से भी कड़ी कार्रवाई करने के लिए उच्च अधिकारियों को सूचित किया जाएगा।

 

अधिक खबरों के लिए जुड़े रहें हरियाणा की खबर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *