Table of Contents

Chandrababu Naidu Jail: आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम और तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू को गिरफ्तार कर राजमुंदरी सेंट्रल जेल भेज दिया गया है। जिसके बाद से ही प्रदेश में सियासी घमासान छिड़ गया है इसी को लेकर आंध्र प्रदेश की विपक्षी पार्टी टीडीपी ने नायडू की गिरफ्तारी के विरोध में आज सोमवार को पूरे राज्य में बंद का आह्वान किया गया है।

आपको बता दें कि चंद्रबाबू नायडू को सीआईडी ने 9 सितंबर यानि कि शनिवार को नंदयाल में गिरफ्तार किया था। जिसके एक दिन बाद रविवार 10 सितंबर की सुबह विजयवाड़ा की एक अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें 23 सितंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

https://static.toiimg.com/thumb/msid-103535094,width-1280,resizemode-4/103535094.jpg

 

जाने एन चंद्रबाबू नायडू की गिरफ्तारी से जुड़ी ये प्रमुख बातें-

  1. टीडीपी के प्रदेश अध्यक्ष अत्चन नायडू ने आंध्र प्रदेश में एक दिन बंद का आह्वान किया है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि बंद का आह्वान चंद्रबाबू नायडू की ‘अवैध’ गिरफ्तारी, टीडीपी कार्यकर्ताओं पर क्रूर हमलों और मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी की बदले की राजनीति के विरोध में है।

  2. तेलुगु देशम पार्टी के नेताओं ने कार्यकर्ताओं और आम लोगों से लोकतंत्र को बचाने के लिए बंद में स्वेच्छा से शामिल होने की अपील की है। तेदेपा नेता ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू की गिरफ्तारी जगन मोहन रेड्डी की मानसिक प्रकृति का लेटेस्ट सबूत है। उन्होंने कहा कि लोग जगन मोहन रेड्डी को सबक सिखाएंगे।

  3. टीडीपी नेता डी. नरेंद्र कुमार ने कहा कि 10 सितंबर लोकतंत्र के लिए काला दिन है। जनता के लिए काम करने वाले एक नेता को सरकार ने राजनीतिक साजिश के तहत जेल भेज दिया। नरेंद्र कुमार ने पार्टी कार्यकर्ताओं से हिम्मत न हारने की अपील की और कहा कि पार्टी युवा नेता नारा लोकेश के नेतृत्व में कानूनी लड़ाई जारी रखेगी।

  4. सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट सिद्धार्थ लूथरा और वकीलों का एक ग्रुप आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नायडू का प्रतिनिधित्व कर रहा है। नायडू को शनिवार देर रात तीन बजकर 40 मिनट पर मेडिकल टेस्ट के लिए विजयवाड़ा के सरकारी जनरल अस्पताल ले जाया गया था। इससे पहले, उनसे यहां कुंचनपल्ली स्थित सीआईडी के विशेष जांच दल (एसआईटी) कार्यालय में लगभग 10 घंटे तक पूछताछ की गई।

  5. टीडीपी प्रवक्ता पट्टाभि राम कोमारेड्डी ने पीटीआई से कहा कि पार्टी प्रमुख के बेटे नारा लोकेश, उनकी पत्नी नारा भुवनेश्वरी और अन्य लोग एसीबी अदालत में इंतजार कर रहे थे। हमने सोचा था कि उन्हें (नायडू को) अदालत ले जाया जाएगा, लेकिन वे उन्हें वापस एसआईटी कार्यालय ले गए। लोकेश और भुवनेश्वरी अदालत में इंतजार कर रहे थे, लेकिन अचानक काफिला एसआईटी कार्यालय की तरफ मुड़ गया।

  6. सीआईडी ने आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री को 9 सितंबर की सुबह करीब छह बजे नंदयाल शहर के ज्ञानपुरम स्थित आर के फंक्शन हॉल के बाहर से गिरफ्तार किया था। नायडू को उस समय गिरफ्तार किया गया था, जब वह सभी सुविधाओं से लैस अपनी बस में सो रहे थे।

  7. आंध्र प्रदेश पुलिस ने कथित कौशल विकास निगम घोटाले में नायडू को ‘मुख्य षड्यंत्रकारी’ बताया था। ऐसा आरोप है कि इस कथित घोटाले से राज्य सरकार को 300 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।

  8. नायडू की गिरफ्तारी के बाद से टीडीपी नेताओं ने चित्तूर जिले के उनके विधानसभा क्षेत्र कुप्पम में  विरोध प्रदर्शन किया. वे नायडू के साथ एकजुटता दिखाने के लिए भूख हड़ताल पर भी बैठ गए. टीडीपी के झंडे लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं ने रैलियां निकालीं, सड़क जाम किया और भूख हड़ताल पर बैठे.

  9. जन सेना पार्टी (जेएसपी) के नेता पवन कल्याण ने कहा क्योंकि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी जेल गए हैं, इसलिए वह अन्य सभी को भी जेल में देखना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “हम अपनी जान दे देंगे लेकिन राज्य की रक्षा करेंगे”

  10. तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के महासचिव नारा लोकेश ने लोगों को लिखे एक खुले पत्र में कहा, “मैं दर्द से भारी दिल और आंसुओं से नम आंखों के साथ आज आपको लिख रहा हूं, मैं अपने पिता को आंध्र प्रदेश और तेलुगू लोगों की भलाई के लिए अपना दिल और आत्मा लगाते हुए देखकर बड़ा हुआ हूं. उन्हें कभी भी आराम का दिन नहीं मिला,  लाखों लोगों की जिंदगी बदलने के लिए अथक प्रयास कर रहा हूं”

सोर्स- एएनआई, पीटीआई, आईएएनएस

 

अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहें हरियाणा कि खबर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *