Table of Contents

नई दिल्ली, मनीष कुमार : अरविंद केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी की  मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। दिल्ली में कथित तौर पर हुए आबकारी नीति के घोटाले की आंच संजय सिंह के बाद आप विधायक Amanatullah Khan के घर तक पहुँच चुकी है।

https://feeds.abplive.com/onecms/images/uploaded-images/2022/09/28/21d42457c9cf5938a45823a94a8589541664359820478117_original.jpg

आपको बता दें कि मंगलवार की सुबह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान छापेमारी की। ईडी के अनुसार यह रेड उन डायरियों को लेकर चल रही है, जो पिछली साल वफ्त बोर्ड मामले में एंटी करप्शन विंग की छापेमारी की जिसके दौरान ये डायरियाँ आप विधायक के करीबी के ठिकानों से मिली थी। दरअसल दिल्ली वक्फ बोर्ड वित्तीय अनियमितता मामले में सीबीआई और एसीबी ने अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं।

 

Amanatullah Khan पर वक्फ बोर्ड में गड़बड़ी करने का है आरोप-

गौरतलब है कि, अमानतुल्ला खान जब दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष थे तब उन्होंने 32 लोगों को अवैध रूप से नियमों का उल्लंघन करते हुए भर्ती किया। दिल्ली वक्फ बोर्ड के तत्कालीन सीईओ ने इस तरह की अवैध भर्ती के खिलाफ बयान जारी किया था. आरोप है कि दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में अमानतुल्ला खान ने भ्रष्टाचार और पक्षपात किया है। इसके साथ ही अवैध रूप से दिल्ली वक्फ बोर्ड की कई संपत्तियों को किराए पर दिया है। ये भी आरोप लगाया गया है कि उन्होंने दिल्ली वक्फ बोर्ड के धन का दुरुपयोग किया है, जिसमें दिल्ली सरकार से सहायता अनुदान शामिल है।

दिल्ली वक्फ बोर्ड वित्तीय अनियमितता मामले में सीबीआई और दिल्ली सरकार की एसीबी दोनों ने अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं। अमानतुल्लाह खान को पिछले साल एसीबी ने गिरफ्तार किया था। तलाशी के दौरान कुछ डायरियां बरामद हुईं। ये डायरियां अमानतुल्लाह खान के करीबी लड्डन खान के यहां बरामद हुई। इस डायरियों में हवाला के जरिए लाखों के लेनदेन का जिक्र था। इनमें से अधिकांश लेनदेन अवैध मनी लॉन्ड्रिंग लेनदेन थे। कुछ लेनदेन विदेश के भी थे। एसीबी ने अपनी जांच ईडी से साझा की थी

वक्फ बोर्ड में हुए घोटाले को लेकर सीबीआई और एन्टी करप्शन ब्यूरो ने अलग-अलग FIR दर्ज की हुई थी। अमानत को पिछले साल इसी केस में एन्टी करप्शन ने गिरफ्तार भी किया था अमानत के करीबियों के ठिकानों पर तलाशी के दौरान कुछ मनी ट्रांजेक्शन की डिटेल और डायरी मिली थी।आरोप है कि इस डायरी में हवाला से लेन-देन का हिसाब लिखा था। विदेशों के भी हवाला के जरिए ट्रांजेक्शन का जिक्र था। जिसके बाद ये तमाम जानकारियां एन्टी करप्शन ने ED से सांझा की थी। अब ED ने अमानत के ठिकानों पर PMLA के तहत रेड की है। वक्फ बोर्ड की जमीन बेचने और वहां अपने लोगों को गलत तरीके से भर्ती करने का आरोप था।

 

अधिक खबरों के लिए जुड़े रहे हरियाणा की खबर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *