हरियाणा में पिछले दिनों आई बाढ़ की वजह से प्रदेश में हजारों करोड़ों का नुकसान हुआ है। इसी को देखते हुए हरियाणा सरकार ने बाढ़ के कारण हुए नुकसानों को दूर करने के लिए कदम उठाये हैं। उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने सोमवार को राजस्व एवं आपदा और लोक निर्माण विभाग की बैठक करते हुए बाढ़ से प्रभावित लोगों को हर संभव आर्थिक मदद प्रदान करने के लिए मंथन किया।

इस इस बैठक में उन्होंने बताया कि बाढ़ के कारण पशुपालकों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए दुधारू पशु और बिना दुधारू पशुओं की दो श्रेणी बनाई गई है। तथा जिला उपायुक्त इसकी रिपोर्ट तैयार कर हमें भेजेंगे, जिसके बाद मुआवजे राशि घोषित की जाएगी। जिससे पशुपालकों को हुए उनके आर्थिक नुकसान का भरपाई करने में मदद मिलेगी।

इसके अलावा बाढ़ के कारण जान गंवाने वालों के पीड़ित परिवारों को भी सरकार ने संवेदनशीलता से लिया है। ऐसे परिवारों को चार लाख रुपये तक का मुआवजा दिया जाएगा। तथा यह राशि उन्हें उनके हुए नुकसान की सहायता के लिए प्रदान की जाएगी।

फसलों के नुकसान का मुआवजा भी भी दिया जाएगा। जहां सौ प्रतिशत फसलों के नुकसान की रिपोर्ट तैयार की जाएगी, तथा तुरंत किसानों के खातों में 15 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिया जाएगा। इससे किसानों को अपने प्रचंड कठिनाइयों से निकलने की मदद मिलेगी और उन्हें आर्थिक सहायता प्राप्त होगी।

प्रदेश सरकार ने इस मुआवजे के लिए आवश्यक बजट भी तय कर लिया है। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के अनुसार बाढ़ के कारण विभाग की सड़कों को हुए नुकसान को दूर करने के लिए लगभग 230 करोड़ रुपये का बजट तय किया गया है। इसके साथ ही निवारण के लिए एक कमेटी का गठन भी किया गया है, जो इन सड़कों की तेजी से मरम्मत करेगी।

अधिक खबरों के लिए बने रहें हरियाणा की ख़बर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *