चंडीगढ़ गृह मंत्री अनिल विज ने हरियाणा प्रदेश के होम गार्डों को तोहफा देते हुए उनके लिए बड़ी घोषणा करते हुए उत्कृष्ट सेवाओं के लिए होम गार्ड स्वयंसेवकों को मेडल से सम्मानित करने का ऐलान किया है। जिसके लिए जल्द ही राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजा जायेगा इसके साथ ही उन्होंने आला अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि राज्य के सभी होम गार्डों को उनका ड्यूटी भत्ता हर महीने की 7 तारीख तक मिल जाना चाहिए।

यह सभी जानकारी तब मिली जब हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज मंगलवार को चंडीगढ़ में होम गार्ड एवं नागरिक सुरक्षा विभाग के उच्च अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। जहां उन्होंने ये फैसले तथा जानकारी दी।

चंडीगढ़ में ली बैठक में उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि पुलिस ड्यूटी के लिए पुलिस कर्मियों की तर्ज पर होम गार्डों को भी जोखिम भत्ता देने का प्रस्ताव तैयार किया जाए। इसके साथ ही, उन्होंने अधिकारियों को स्वयंसेवकों द्वारा डाक मतपत्र का उपयोग करने के लिए चुनाव आयोग को भी प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया है।

बैठक में गृह मंत्री को अधिकारियों ने जानकारी दी कि राज्य में कुल 14,000 होम गार्ड की क्षमता है। जिसमे से वर्तमान में राज्य में 12,000 गृहरक्षक कार्यरत हैं, जिनमें से 9,050 होम गार्ड स्वयंसेवक पुलिस विभाग में कानून व्यवस्था, यातायात एवं वाहन चालक आदि की ड्यूटी पर कार्यरत हैं जिसपर गृह मंत्री ने अधिकारियों को आदेश दिया कि होम गार्ड को ईपीएफ आदि देने का प्रावधान किया जाये।

अधिकारियों द्वारा दी जानकारी के अनुसार एचडीएफसी बैंक द्वारा होम गार्ड स्वयंसेवकों के लिए आकस्मिक मृत्यु दावे को भी 15 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये कर दिया गया है। जबकि प्राकृतिक मृत्यु पर बैंक द्वारा परिजनों को 3.25 लाख रुपये देने का भी प्रावधान किया गया है।

अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहें हरियाणा कि खबर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *