रोहतक, 15 सितंबर: हरियाणा प्रदेश की पहचान उसके खिलाड़ियों के द्वारा कई खेलों में हर साल जीते मेडलों से होती है कई  ऐसे खेल हैं जिनमे हरियाणा की  मानो बढ़शाहत कायम है, इसी को कायम रखने और नेशनल लेवल पर आइस स्केटिंग मैं हरियाणा की बादशाहत को बरकरार रखने की ठान ली है।

जिसके लिए “हरियाणा आइस स्केटिंग एसोसिएशन” ने इस खेल के ईवेंट में कई बदलाव करते हुए “रोहतक” शहर में प्रदेश की पहली ऑफ आइस स्केटिंग चैंपियनशिप का आयोजन करने जा रही है। इसके साथ ही इस चैम्पियनशिप में पहली बार जिला स्तर पर प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थानों पर रहने वाले स्केटर्स हिस्सा ले सकेंगे।

इसके बारे में जानकारी देते हुए हरियाणा आइस स्केटिंग एसोसिएशन के महासचिव नरेश सेलपाड़ ने बताया कि, आगामी आठ अक्टूबर को रोहतक में आयोजित होने वाली प्रदेश की पहली ऑफ आइस स्केटिंग चैंपियनशिप में पूरे प्रदेश के 14 जिलों के करीब 500 से अधिक आइस स्केटर्स भाग लेने वाले हैं। जिसके अलावा स्पीड आइस स्केटिंग एवं फिगर आइस स्केटिंग के खिलाड़ी भी अलग-अलग ईवेंट में खेल सकेंगे।

यहाँ आपको एक यह भी पता होना चाहिए कि हरियाणा पिछली 18 नेशनल चैम्पियनशिप में एक नंबर पर बरकरार रहा है। और अपनी इसी बादशाहत को कायम रखने के उद्देश्य से हरियाणा इस बार आइस स्केटिंग एसोसिएशन इस बार पहले की तुलना में तीन गुणा अधिक खिलाडिय़ों को नेशनल ट्रेनिंग कैम्प का हिस्सा दिलवाने की रणनीति पर काम कर रही है।

रोहतक में होने वाली इस प्रतियोगिता में प्रदेश की पहली ऑफ आइस स्केटिंग चैंपियनशिप में स्पीड आइस स्केटिंग श्रेणी में अंडर-6, 6 से 8, 8 से 10, 10 से 13, 13 से 15, 15 से 17, 17 से 19 आयु वर्ग व सीनियर वर्ग में 19 वर्ष या इससे अधिक आयु वर्ग के स्केटर्स हिस्सा लेंगे। इसी प्रकार फिगर आइस स्केटिंग मेें अंडर-6, 6 से 8, 8 से 10, 10 से 13, 13 से 15, 15 से 17, 17 से 19 से अधिक आयु वर्ग के स्केटर्स हिस्सा लेंगे।

अधिक खबरों के लिए जुड़े रहें हरियाणा कि खबर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *