हथिनी कुंड बैराज

Monsoon In North India 2023: हरियाणा में पहाड़ों में बारिश के कारण नदिया उफान पर, 87.85 मिमी बारिश हुई,किसान अब अपने खेतों से पानी की निकासी में जुटे हुए.

हरियाणा में पहाड़ों में बारिश के कारण नदियों का उफान हुआ है। हथनीकुंड बांध से अधिकतम 3,90,000 क्यूसेक पानी बह चुका है। इस पानी का यमुना नदी के साथ लगते इलाकों में फैलाव हो रहा है। इस पानी की वजह से यमुना नदी के प्रतापनगर, बांबेपुर, अराइयांवाला, चांदपुर माजरी, बहादुरपुर, किशनपुरा, उर्जनी, बाकरपुर, लापरा, मंडी, कलानौर जैसे कई गांवों में आबादी में पानी घुस गया है। इसके साथ ही खेतों में जल भराव के कारण हजारों एकड़ फसल पानी में डूब गई है।

यहां तक कि हथनीकुंड बांध पर पानी का स्तर भी और बढ़ सकता है यदि पहाड़ों में बारिश जारी रहती है। इसके अलावा कलानौर पुलिस चौकी, प्रतापनगर थाने के भवन, कलानौर रेलवे अंडरपास में पानी भर गया है और यहां की आवागमन रुक गई है। सिंचाई विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, बारिश जारी रहने की स्थिति में हथनीकुंड बांध पर पानी का स्तर और अधिक बढ़ सकता है।

इस बारिश के चलते यमुना नदी और सम्बद्ध इलाकों में बहुत सारे गांवों में पानी घुस गया है और ग्रामीणों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। खेतों में जल जमाव होने से हजारों एकड़ फसलें पानी में डूब गई हैं। हरियाणा में औसत 87.85 मिमी बारिश हुई है, जबकि प्रतापनगर में 97 मिमी बारिश हुई है। किसान अब अपने खेतों से पानी की निकासी में जुटे हुए हैं।

इस बारिश के परिणामस्वरूप दिल्ली में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। हथिनीकुंड बांध से आने वाला तीन लाख नौ हजार क्यूसेक पानी अगले 72 घंटों तक दिल्ली तक फैल जाएगा। इससे दिल्ली में बाढ़ का खतरा बढ़ जाएगा। अधिकारियों ने बारिश जारी रहने की स्थिति में यह भी बताया है कि हथिनीकुंड बांध पर पानी का स्तर और भी बढ़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *