बेंगलुरू: पिछले दो दिनों तक हुई विपक्षी दलों की बैठक बीजेपी और एनडीए के लिए चिंता का विषय है, 17 जुलाई को हुई 26 दलों की बैठक में उपस्थित नेताओं ने 2024 के चुनाव के लिए बीजेपी और एनडीए को टक्कर देने के लिए अपने नए गठबंधन का नया नाम INDIA यानि (इंडियन नेशनल डेवेलपमेंटल इंक्लूसिव एलायंस) रखा है. इसके साथ ही 2024 में आने वाले चुनाव की लड़ाई का भी आगाज कर दिया है.

विपक्ष को एकजुट होता देख 17 जुलाई की शाम को ही एनडीए ने भी बैठक करने का ऐलान कर दिया है, जिसमें वह विपक्षी दलों के बनाए गठबंधन से कैसे निपटना है इसकी रणनीति बनाने पर बातचीत होगी. हालांकि कि अभी तक नीतीश कुमार के संयोजक बनाने की घोषणा भी नहीं हुई और बेंगलुरू में उनके खिलाफ पोस्टर भी चिपके भी देखे गए.

विपक्ष की बैठक के बाद नई दिल्ली में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन एनडीए ने भी अपनी बैठक आयोजित की। जिसमे भाजपा समेत कुल 38 राजनीतिक दलों के नेता भी शामिल हुए। जिन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित कर रहे थे।

 

कांग्रेस को लिया निशाने पर:-

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि , ”हमारे देश में राजनीतिक गठबंधनों की एक लंबी परंपरा रही है, लेकिन जो भी गठबंधन नकारात्‍मकता के साथ बने वह कभी भी सफल नहीं हो पाए। कांग्रेस ने 90 के दशक में देश में अस्थिरता लाने के लिए गठबंधनों का इस्तेमाल किया। कांग्रेस ने सरकारें बनाईं और सरकारें बिगाड़ीं।”

इसके साथ ही मंगलवार को बेंगलुरु में विपक्षी दलों की हुई बैठक भी पर निशाना साधते हुए कहा कि,“जब गठबंधन सत्ता की मजबूरी का हो, जब गठबंधन भ्रष्टाचार की नीयत से हो, जब गठबंधन परिवारवाद की नीति पर आधारित हो, जब गठबंधन जातिवाद और क्षेत्रवाद को ध्यान में रखकर किया गया हो तो वो गठबंधन देश का बहुत नुकसान करता है।”

साथ ही वे आगे कहते है कि, “2014 से पहले की गठबंधन सरकार का उदाहरण हम सभी के सामने है। प्रधानमंत्री के ऊपर एक आलाकमान, पॉलिसी पैरालिसिस, निर्णय लेने में अक्षमता, अव्यवस्था और अविश्वास, खींचतान और भ्रष्टाचार, लाखों-करोड़ों के घोटाले।”

भ्रष्टाचार के हर रास्ते को बंद किया एनडीए ने: मोदी

मोदी ने आगे कहा कि “एनडीए सरकार ने पिछले 9 वर्षों में भ्रष्टाचार के हर रास्ते को बंद करने के लिए हर संभव प्रयास किया। पहले के समय में सत्ता में जो बिचौलिए घूम करते थे, उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया। जनधन खातों, आधार और मोबाइल की शक्ति से गरीबों का हक छीनने से रोका है।”

जनता देख रही है कि, ये सभी पार्टियां क्यों इकट्ठा हो रही हैं? जनता को ये भी अछे से पता है कि, ऐसा कौन सा ग्लू है जो इन पार्टियों को आपस जोड़ रहा है।

 

अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहें हरियाणा की ख़बर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *