जैसे जैसे इसरो के मिशन चंद्रयान-3 की लॉन्च डेट नजदीक आ रही है वैसे ही लोग इसकी टकटकी लगाए प्रतीक्षा कर रहें हैं। इस मिशन को लेकर लोगों के दिलों में खुशी के साथ उत्सुकता बहुत है। लगभग चार साल के लंबे इंतजार के बाद चंद्रयान-3 मिशन विमान शुक्रवार, 14 जुलाई 2023 को दोपहर में श्रीहरिकोटा, आंध्र प्रदेश के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से लॉन्च होगा।

 

ISRO mission chandryaan-3  इसलिए भी बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि chandryaan-2 मिशन पूरी तरह सफल नहीं हो पाया था। जो सितंबर 2019 में लॉन्च हुआ था। इस मिशन के लिए इसरो का ‘फैट बॉय’ कहे जाने वाला रॉकेट LMV3-M4 का उपयोग किया जाएगा।

https://i.cdn.newsbytesapp.com/hn/images/l92120230706160950.jpeg

तो आइए पहले जानते है, इसरो के चंद्रयान मिशनों के बारे में:-

भारत अब तक दो चंद्रमा मिशनों का प्रक्षेपण कर चुका है। पहला chandryaan-1 मिशन 22 अक्टूबर 2008 को प्रक्षेपित किया गया था, जोकि पूरी तरह से सफल रहा था। इस मिशन से हमें चंद्रमा पर पानी होने का पता चल था, जिसके बाद इसने कई अन्य खोजों का रास्ता साफ किया। जबकि दूसरा मिशन, chandryaan-2,  22 जुलाई 2019 को प्रक्षेपित किया गया था। दुर्भाग्यवश यह मिशन पूरी तरह सफल नहीं हो पाया जिसमे लैंडर तो ससफलतापूर्वक चंद्रमा की कक्षा में पहुंचा, लेकिन बाद में यह चंद्रमा की सतह से केवल 2.1 किलोमीटर पहले ही अपना संपर्क कंट्रोल सेंटर से खो बैठा। जिसके बाद यह मिशन पूरी तरह सफल नहीं हो पाया। इसरो के अनुसार, chandryaan-3 मिशन पिछली विफलताओं से सीख कर ही तैयार किया गया है, और वह आशा करेगा कि यह अंतरिक्ष मिशन सफल हो।

https://www.isro.gov.in/media_isro/image/archives/press/meeting1.jpg.webp
chandryaan-3 mission press conference

अब जानते हैं,Chandrayaan-3 मिशन के बजट और लागत के बारे में:-

इसरो के Chandryaan-3 की लगभग लागत लगभग 615 करोड़ रुपये रही है। भारत ने अब तक दो चंद्रमा मिशनों का प्रक्षेपण किया है।

ये है Chandryaan-3 के उद्देश्य:-

इसरो के चंद्रयान-3 मिशन का प्रमुख मुख्य उद्देश्य चंद्रमा की सतह पर एक नरम लॉन्चपैड ढूंढ कर रसायनिक विश्लेषण करना है, और भविष्य के ग्रह मिशनों के लिए आवश्यक नई तकनीकों की खोज करना।

चंद्रयान-3 मिशन विवरण:-(ISRO mission chandrayaan-3)

इसरो का यह तीन स्टेज रॉकेट, Launch Vhical Mark-3 (एलवीएम3), रोबोटिक चंद्रमा लैंडर और रोवर जो चंद्रयान-3 अंतरिक्ष यान का हिस्सा हैं, को धरती की कक्ष तक ले जाएगा। ताकि मिशन टीम यह सुनिश्चित कर सके, कि सभी उपकरण प्रक्षेपण के बाद सही तरह से काम कर रहे हैं या नहीं। जल्द ही, उसके बाद ही यान अपने निर्धारित लक्ष्य के लिए आगे बढ़ेगा।

https://www.hindustantimes.com/ht-img/img/2023/07/02/1600x900/20230614_221259_1686941570812_1688339611004.jpg
chandryaan-3-launch-module

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (आईएसआरओ) ने chandryaan-3 के लिए चंद्रमा लैंडर नामक “विक्रम” जिसमें चार उपकरण हैं जो (Thermal conductivity and sense moonquakes) को रिकॉर्ड इसके अलावा अन्य डेटा को भी रिकॉर्ड करेगा। जबकि रोवर “प्रज्ञान” विक्रम से नीचे उतरेगा और आस-पास के क्षेत्र का विश्लेषण करेगा, इसके ऑनबोर्ड कैमरे उसे चंद्र परिवर्तनों से बचने में मदद करेंगे। प्रज्ञान में दो उपकरण हैं जिनके माध्यम से वैज्ञानिकों की आशा है कि वे लैंडिंग स्थल के पास चंद्रमा के संरचना के बारे में महत्वपूर्ण तकनीकी डेटा प्राप्त करेंगे।

https://static.langimg.com/thumb/77298144/navbharat-times-77298144.jpg?width=540&resizemode=3
chandryaan-3-lander-and-rover

Chandryaan-3 लैंडर और रोवर का विवरण:-

नासा के अनुमान के मुताबिक, लैंडर चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुवीय क्षेत्र में रोवर के साथ सतह को छूएगा। लैंडिंग के बाद, लैंडर 14 पृथ्वी दिनों तक (एक चंद्र दिवस) सतह से जरूरी सैंपल एकत्र करेगा।

  • चंद्रयान 3 मिशन प्रक्षेपण मॉड्यूल: 2148 किलोग्राम
  • लैंडर मॉड्यूल: 1752 किलोग्राम, जिसमें 26 किलोग्राम का रोवर शामिल है
  • चंद्रयान 3 कुल वजन: 3900 किलोग्राम

Chandryaan-3 लॉन्च डेट और शेड्यूल:-

isro-chanryaan-3-mission-schedule

इसरो के चेयरमैन “एस सोमनाथ” के अनुसार चंद्रयान-3 की अपेक्षित सॉफ्ट लॉन्च चंद्रमा पर 23 या 24 अगस्त को होने की उम्मीद है, हालांकि यह सूरज के चंद्रमा पर उगने पर निर्भर करेगा। अगर कोई देरी होती है, तो इसरो सितंबर में लैंडिंग को फिर से शेड्यूल करेगा। LMV Mark-3 और Chandryaan-3 अंतरिक्ष यान के वाहन संयोजन पर विद्युतिक परीक्षण पूरा हो चुका है। जो लोग चाहते हैं कि वे सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के लॉन्च व्यू गैलरी से प्रक्षेपण को लाइव देखें, वे अपना पंजीकरण ivg.shar.gov.in पर कर सकते हैं।

 

अधिक खबरों के लिए बने रहें www.haryanakikhabar.com के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *