दिल्ली: एनडीए द्वारा दिल्ली में आयोजित जननायक जनता पार्टी के शामिल होने पर हरियाणा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के साथ हरियाणा में हुए गठबंधन पर मजबूती की मुहर लगा दी है। वही उन विधायकों के सपने एक बार फिर चकनाचूर कर दिए जो हर रोज भाजपा-जजपा का गठबंधन टूटने के बाद सरकार में शामिल होने तथा मंत्री बनने का सपना देखते आए हैं।

हालांकि उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला तो पिछले काफी समय से ही भाजपा व जेजेपी का गठबंधन के अटूट होने का दावा कर रहे हैं, लेकिन उनके विरोधियों को इसपर कभी यकीन नहीं होता और न ही यह दावा कभी पुख्ता लगा। मगर जैसे ही जजपा नेताओं के एनडीए की बैठक में के शामिल होने की ख़बर आई उसके बाद अब गठबंधन के टूटने को लेकर चली आ रही अटकलों पर काफी हद तक लगाम लगेगी।

गौरतलब है की भारतीय जनता पार्टी द्वारा मंगलवार को नई दिल्ली में एनडीए की बैठक में 38 राजनीतिक दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया जिसमे हरियाणा से दो राजनीतिक दल जो कि पहले से ही एनडीए की सूची में शामिल जिसमे पहला दल जननायक जनता पार्टी जो हरियाणा प्रदेश की भाजपा सरकार में शामिल है, जबकि दूसरा हरियाणा लोकहित पार्टी जिस ने भाजपा को बिना शर्त सरकार चलाने के लिए समर्थन दिया हुआ है।

जेजेपी कि ओर से राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह चौटाला और वरिष्ठ उपाध्यक्ष होने के नाते उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला एनडीए की आयोजित हुई बैठक में शामिल हुए। इसमे सिरसा के मंत्री,विधायक और पूर्व गृह राज्य मंत्री गोपाल कांडा को भी बैठक में शामिल होने का निमंत्रण मिला था, परंतु वह निजी कारणों से एनडीए की बैठक में शामिल होने नहीं जा सके जबकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर मंगलवार को नूह प्रदेश के लोगों को करोड़ों रुपए की विकास परियोजनाओ की सौगात देने के बाद गुरुग्राम पहुंच गए जहां पर गोपाल कांडा की उनसे कई मुद्दों पर विस्तृत चर्चा हुई गोपाल कांडा ने कहा कि हमने भाजपा को बिना शर्त समर्थन दे रखा है और भविष्य में भी उनका सार्थन जारी रहेगा   लेकिन उन्होंने भाजपा के नेतृत्व वाली पार्टी के समर्थन से अवगत करा दिया है।

 

अधिक खबरों के लिए जुड़े रहें हरियाणा की ख़बर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *