दिल्ली मे बदते यमुना नदी के जलस्तर के कारण हो रहे आरोप-प्रत्यारोप के बीच हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल  गुज्जर ने कहा की हथिनिकुंड बैराज में अतिरिक्त पानी रखना “खतरे से खाली नहीं होगा” यही वजह है की यह से समय समय पर यमुना नदी मे पानी छोड़ जा रहा है।

राजधानी दिल्ली द्वारा लगाए गए आरोप-प्रत्यारोप के बीच बृहस्पतिवार को हरियाणा शिक्षा मंत्री का यह बयान आया कहा इसके अलावा उन्होंने कहा की जब भी बाढ़ आती है या भारी वर्षा होती है, हरियाणा हो या हिमाचल प्रदेश उनके पास अतिरिक्त जमा हुए पानी को छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं होता है। उन्होंने कहा कि हथिनीकुंड में दूसरे जलाशय की तरह बहुत बड़ी मात्रा में पानी को भंडारित करने की प्रणाली नहीं है।

गौरतलब है कि, पिछले दिनों दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्रीय गृहमंत्री को पत्र लिखकर हथिनीकुंड बैराज से कम रफ्तार से पानी छोड़ने की अनुरोध किया था। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि, दिल्ली कुछ सप्ताहों के अंदर G-20 Summit की मेजबानी करने जा रही है। ऐसे में लगातार हो रही बारिश के कारण यमुना नदी में जलस्तर 208.48 मीटर तक पहुंच गया है।  और नदी का पानी पास की सड़कों, सरकारी और गैर सरकारी भवनों में घुस गया है। जिसकी वजह से जान बचाने के लिए लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाना पड़ रहा है।

https://www.livemint.com/lm-img/img/2023/05/23/600x338/kejriwal_1684818962640_1684818962826.jpg

हर घंटे खराब हो रही स्थिति को देखते हुए केजरीवाल ने केंद्र से हस्तक्षेप करने की अपील की थी और दिल्ली पुलिस ने बाढ़ की आशंका वाले क्षेत्रों में धारा 144 लगा दी ताकि इकट्ठा होने वाले लोगों की संख्या कम हो। हथिनीकुंड बैराज से जलप्रवाह में बृहस्पतिवार को 1.62 लाख क्यूसेक का पानी था, जो कि मंगलवार के पानी के मुकाबले काफी कम है। मंगलवार को यह करीब 3.21 लाख क्यूसेक का पानी था। हथिनीकुंड बैराज में हिमाचल प्रदेश और हरियाणा में हाल के दिनों में हुई भारी वर्षा के कारण जलस्तर मान्य सीमा से अधिक हो गया था, जिसके बाद अतिरिक्त पानी को यमुना नदी में छोड़ दिया गया था।

अधिक खबरों के लिए बने रहें www.haryanakikhabar.com के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *