बीते दिनों कुरुक्षेत्र जिले के ज्योतिसर में डेढ़ साल की बच्ची को नहर फेंकने का मामला सामने आया था, जिसे पास ही गुजर रहे काँवड़िए ने बचाया था। इस मामले मे पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिसमे पहला आरोपी तो उसी बच्ची का बाप ही निकला जबकि दूसरा उसका ताऊ है।  जिन्हे पुलिस सोमवार को अदालत में पेश करेगी।

अमी लाल निवासी रावगढ़ ने 13 जुलाई को पुलिस चौकी ज्योतिसर मे शिकायत दी थी, जिसमे उन्होंने बताया कि उसने कांवड़ियों के लिए ज्योतिसर हेड पर कांवड शिविर लगा रखा था। सुबह करीब 5 बजे एक कांवड़िये ने उसे करीब डेढ़ साल की छोटी बच्ची सौंप कर कहा कि यह बच्ची नदी के किनारे खेल रही थी। उसने उस बच्ची के बारे आसपास पता किया, लेकिन कुछ पता नहीं चला।

जिसके बाद अमी लाल ने बच्ची को ज्योतिसर पुलिस के हवाले किया।  और शिकायत दर्ज कारवाई जिसमे आईपीसी की धारा 317, 506 तथा जेजे एक्ट की धारा 55 के तहत मामला दर्ज किया गया। जिसकी जांच ज्योतिसर पुलिस चौकी इन्चार्ज उप निरीक्षक महेंद्र सिंह द्वारा की गई। बच्ची का मेडिकल चेकअप करवाया तथा बच्ची को बाल कल्याण समिति के माध्यम से सनातन धर्म संस्था कैथल को सौंप दिया।

ज्योतिसर चौकी प्रभारी महेंद्र सिंह के अनुसार  आरोपी बलकर सिह और कुलदीप सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है, आरोपी पिता बलकार सिंह का उसकी पत्नी के साथ मनमुटाव चल रहा था। उसकी पत्नी बच्ची को उसके पास ही छोड़कर मायके चली गई थी। जिसकी वजह से उसने बच्ची को नहर में फेंक दिया था, लेकिन एक कांवड़िये ने उसकी जान बचा ली थी।

अधिक खबरों के लिए जुड़े रहें हरियाणा की ख़बर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *