कुरुक्षेत्र, नमितिका शर्मा: विश्वविद्यालय में 11 अगस्त को 33वें दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया जिसमे पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शिरकत कि। जिनके साथ गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जैसे कई महत्वपूर्ण हस्तियों ने भी हिस्सा लिया। उन्होंने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में सम्मानित होने वाले विद्यार्थियों और उनके परिवारों को बधाई दी। समारोह के दौरान, उन्होंने शिक्षा की महत्वपूर्ण भूमिका पर बात की और यह कहा कि शिक्षा का मकसद डिग्री प्राप्त करने से ज्यादा अच्छा इंसान बनना होता है।

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय को वे सिर्फ एक शिक्षा संस्थान नहीं मानते, बल्कि वे उसे अच्छे नागरिक और सफल पेशेवरों का निर्माण करने वाला स्थान मानते हैं। उन्होंने कुरुक्षेत्र के महत्व को भी बताया, जो भारतीय संस्कृति में एक विशेष स्थान रखता है। उन्होंने यह भी याद दिलाया कि कुरुक्षेत्र ही वह स्थान है जहाँ भगवान कृष्ण ने अर्जुन को भगवद गीता का उपदेश दिया था।

पूर्व राष्ट्रपति कोविंद ने इस मौके पर विश्वविद्यालय की सफलता की प्रशंसा की और उन्होंने यह भी बताया कि विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 को सफलतापूर्वक अपने पाठ्यक्रमों में लागू किया है। उन्होंने मुख्यमंत्री और राज्यपाल की भी प्रशंसा की जिन्होंने इस कदम को संचालित किया।

समारोह में भारतीय संस्कृति और शिक्षा के महत्व के बारे में विचार व्यक्त किए गए और डिग्री प्राप्त करने वाले छात्रों को बधाई दी गई। यह एक खास मोमेंट था जब सीएम मनोहर लाल को जापानी भाषा का सर्टिफिकेट प्रदान किया गया।

इस अवसर पर उपस्थित विशेषज्ञों ने भी शिक्षा के महत्व पर बातचीत की और सफलता के पीछे समाज के संघर्ष और समर्पण का महत्व बताया, साथ ही सीएम मनोहर लाल खट्टर ने जापानी भाषा में भाषण भी दिया।

इस समारोह में पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द की धर्म पत्नी सविता कोविन्द, आचार्य देवव्रत की धर्मपत्नी दर्शना देवी, सांसद श्री नायब सैनी, विधायक श्री सुभाष सुधा, उपायुक्त शांतनु शर्मा, कुलसचिव प्रो. संजीव शर्मा, पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र भौरिया, डीन एकेडमिक अफेयर्स प्रो. अनिल वशिष्ठ, विश्वविद्यालय के डीन, डायरेक्टर, चैयरपर्सन, शिक्षक, कर्मचारी एवं विद्यार्थी मौजूद रहे।

 

ये रहीं कुछ खास झलकियां:-

अधिक खबरों के लिए जुड़े रहें हरियाणा कि खबर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *