heavy rainfall in north india

जिस तरह के आसार थे इस बार मॉनसून हरियाणा समेत उत्तर भारत में रविवार से लगातार हो रही जम कर बारिश ने पूरे उत्तर भारत को हिला कर रख दिया है. सडकें मानो दरिया बन गयी है, नदी नाले उफान पर हैं इसमे हरियाणा के साथ-साथ हिमाचल प्रदेश में भी इसका असर देखने को मिला है कहीं गाड़ियां तो कहनी पुल के पुल ही बह गए है.

भूस्खलन और बारिश से अब तक समूचे उत्तर भारत में 29 लोगों की मौत की खबर है. जिसमें हिमाचल में नौ, उत्तर प्रदेश में छह, उत्तराखंड में पांच, पंजाब में दो, राजस्थान, दिल्ली, व लद्दाख में एक-एक कि जान जा चुकी है.

मॉनसून के बाद नदियां उफान पर

भारी बारिश के कारण अधिकतर राज्यों में सरकार ने स्कूलों कालेजों में छुट्टियां घोषित कर दी है, निजी कंपनियों ने भी अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रोम होम करने के लिए कहा है. इसके साथ ही उत्तर रेल्वे ने 17 ट्रेनों के रूटों बदलाव किया है.
दिल्ली में बारिश का पिछले 41 साल का रिकॉर्ड टूट चुका है. मौसम विभाग के अनुसार, शहर में 24 घंटों में 13 मिमी बारिश दर्ज की गई, जो कि साल 1982 के बाद जुलाई में एक दिन में हुई सबसे अधिक बारिश है. चंडीगढ़ में भी शनिवार को हुई वर्षा 24 घंटे तक लगातार हो रही है,जिसके अभी तक 365.4 मिमी से ज्यादा बारिश दर्ज की जा चुकी है. जिसमें 70 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. मौसम विभाग की माने तो इतिहास में पहली बार जुलाई में एक दिन मे इतनी बारिश हुई है. इसके साथ ही आने वाले कुछ दिनों तक दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल, उत्तराखंड, राजस्थान, पंजाब, बिहार व जम्मू कश्मीर में भारी बारिश की संभावना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version