चमोली में बुधवार बहुत दुखट हादसा घटित हुआ है। दरअसल Namami Gange Project के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट चारों तरफ करंट फैल जाने के कारण 15 लोगों ने अपनी जान गवां दी है। वहीं कई और लोग भी इसकी चपेट में आए हैं, जिसमे पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। गौरतलब है कि, करंट लगने से झुलसे लोगों को आनन-फानन में जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां से उन्हें ऋषिकेश एम्स रैफर कर दिया है।। प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना के समय मौके पर 22 लोग मौजूद थे। यह जानकारी राज्य आपदा परिचालन केंद्र द्वारा जारी की गई है।

गौरतलब है कि, सीवर ट्रीटमेंट प्लांट में काम करने वाले युवक की मौत रात मे ही हो गई थी, जिसपर सुबह जब पुलिस कार्रवाई करने के लिए पहुंची। जिस दौरान मृतक के परिजनों के साथ साथ आसपास के लोगों की भीड़ जमा हो गई। अचानक से वहां करंट फैल गया और वहाँ मौजूद लोग इसकी चपेट में आ गए। जिसके कारण यह दुर्घटना हुई, घायलों को जिले के चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया। झुलसने वालों में से तीन जिसमे चमोली के दारोगा भी शामिल हैं उनकी हालत फिलहाल गंभीर बताई जा रही है।

15 लोग गवां चुके जान:-

Namami Gange Project के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट में फैले करंट हादसे में अब तक 15 लोग अपनी जान गंवां चुके है, जिसकी आधिकारिक पुष्टि हो चुकी है। डीआईजी रिद्धिम अग्रवाल के अनुसार मृतकों का आंकड़ा 15 पहुंचने की पुष्टि की है। डीआइजी एसडीआरएफ रिद्धिम अग्रवाल के अनुसार बिजली की हाई टेंशन लाइन टूटने के कारण ही यह हादसा हुआ है। घायलों को एयरलिफ्ट कर ऋषिकेश पहुचाय जा रहा है। इस दुखद दुर्घटना में अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है। मौके पर कुल 22 लोग मौके पर मौजूद थे।

मुख्यमंत्री धामी ने दिए जांच के निर्देश:-

Namami Gange Project के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट में हुए हादसे पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दुख जताते हुए, जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। सीएम धामी ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश देते हुए कहा है कि, जो भी इसमे दोषी होगा उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

 

अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहे हरियाणा की ख़बर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *