अंबाला, 22 सितंबर :  अंबाला प्रशासन ने जिस प्रकार सामुदायिक केंद्रों को नियमित कार्यों के लिए किराए पर देना शुरू किया है ठीक उसी प्रकार अब पार्कों को भी नियमित कार्यों के लिए अब पार्कों को भी किराये पर देने का ऐलान किया है। यदि आपको भी अंबाला में पार्क किराये पर लेना है तो उसके लिए आपको किराए के रूप में एक निश्चित राशि अंबाला नगर निगम को देनी होगी।

लेकिन इसकी भी कुछ नियम व शर्ते हैं जिनका किराये पर लेने वालों को पालन करना होगा तथा नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ निगम कार्रवाई भी करेगा। आमतौर पर लोग लोग अपने घरों में होने वाले छोटे- मोटे कार्यक्रमों के लिए आसपास पड़ी खाली जमीन का इस्तेमाल करते थे या फिर छोटे और पास के ही पार्कों का इस्तेमाल करते थे।  जिसके दौरान सफाई व्यवस्था चरमरा जाती थी, जिस से निपटने के लिए अंबाला नगर निगम में आदेश जारी किए गए हैं कि अब कई कार्यक्रमों के लिए पार्कों को किराए पर भी दिया जा सकता है।

अंबाला नगर निगम के डीएमसी दीपक सूरा के अनुसार जिस तरह से लोगों को अपने बड़े कार्यक्रम आयोजित करने के लिए सामुदायिक केंद्र दिए गए थे। ठीक उसी प्रकार पार्क भी किराये पर दिये जायेंगे। लोग अब पार्क में धार्मिक अनुष्ठान, प्रदर्शनी आदि कार्यक्रमों के लिए निगम को उचित राशि देकर अपने कार्यक्रम आयोजित कर सकेंगे। लेकिन कितनी?

अंबाला नगर निगम ने टिकट वाले कार्यक्रम जैसे ट्रैड फेर आदि के लिए 50,000 रुपये तथा अनुष्ठान जैसे कार्यक्रमों के लिए 2,000 रुपये या 3,000 रुपये का शुल्क रखा गया है।

अक्सर देखा जाता है कि शहर के पार्कों पर या तो अवैध कब्जा कर लिया जाता है या फिर उनकी हालत इतनी खराब हो जाती है कि वे किसी के काम के नहीं रह जाते हैं।  इसके अलावा, आसपास के लोग अपने निजी कार्यक्रमों के लिए भी पार्क का उपयोग करते हैं।  इससे सरकारी संपत्ति का दुरुपयोग होता था लेकिन अब नगर निगम के नये फैसले से इस पर रोक लगेगी।

अधिक  खबरों के लिए जुड़े रहे हरियाणा कि खबर के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *